COVID

School Reopen Updates: Schools To Open In Delhi From 18 January And Tamil Nadu From 19 January, Know The Updates Of Other States



School Reopen Updates: देश में जैसे-जैसे कोरोना वायरस महामारी के मामले कम होते जा रहे हैं, वैसे वैसे अब आम जिंदगी पटरी पर लौट रही है. धीरे-धीरे ही सही लेकिन अब दिल्ली-तमिलनाडु जैसे राज्य फिर से स्कूल खोलने के लिए तैयार हैं. राजधानी दिल्ली में 18 जनवरी से 10वीं और 12वीं कक्षा के लिए स्कूल खोल दिए जाएंगे. वहीं, दक्षिण के राज्य तमिलनाडु में भी सरकार ने 19 जनवरी से 10वीं और 12वीं कक्षा शुरू करने का एलान कर दिया है. हालांकि इन दोनों राज्यों के अलावा देश के कई राज्यों ने पहले ही स्कूल खोल दिए हैं. जानिए देश में स्कूल खुलने का ताजा अपडेट क्या है.

दिल्ली-

दिल्ली सरकार ने कोरोना निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर स्थित स्कूलों को 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए 18 जनवरी से खोलने की अनुमति दे दी. सरकार ने यह फैसला बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर किया है. बहरहाल, अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि विद्यार्थी अपने माता-पिता की सहमति से ही स्कूल आ सकेंगे और स्कूल आना अनिवार्य नहीं होगा. राष्ट्रीय राजधानी में 10 महीने बाद स्कूल खुल रहे हैं. कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए पिछले साल मार्च में स्कूलों को बंद कर दिया गया था और ये तभी से बंद हैं. स्कूलों को निर्देश दिया गया है कि स्कूल खुलने पर कोविड संबंधी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा.

तमिलनाडु-

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने घोषणा की है कि 19 जनवरी से दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूल फिर से खुल जाएंगे और प्रत्येक कक्षा में 25 से अधिक छात्र नहीं होंगे. उन्होंने कहा कि यह कदम छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर लिया जा रहा है (जो मार्च-अप्रैल के दौरान कई सरकारी परीक्षाओं में बैठने वाले हैं) और उन्हें रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले विटामिन और जिंक के टैबलेट प्रदान किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि स्कूलों को सरकार के मानक संचालन प्रक्रिया का पालन कर केवल इन दो कक्षाओं के संचालन की अनुमति दी जाती है.

उत्तर प्रदेश-

उत्तर प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक एक पाली में स्कूल खुलेंगे. प्रदेश के सभी बोर्ड के स्कूलों के लिए निर्देश जारी हुए हुए हैं. अब स्कूल सुबह 10 से 3 बजे तक खुलेंगे. अभी तक कक्षा 9 से 12 तक की पढ़ाई दो पाली में चल रही थी. बता दें कि यहां भी कोरोनावायरस से संबंधित सुरक्षा दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है और शिक्षकों ने बच्चों में सामाजिक दूरी सुनिश्चित की है.

बिहार

राज्य में तीन जनवरी से स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय सहित विभिन्न शैक्षणिक संस्थान खोल दिए गए थे. हालांकि कक्षाएं कुल छात्रों के आधे हिस्से के साथ ही संचालित हो रही हैं और कोरोना वायरस के अन्य दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जा रहा है. कोविड-19 महामारी फैलने के बाद राज्य में शैक्षणिक संस्थान करीब नौ महीने पहले बंद किये गए थे.

गुजरात-

गुजरात में कोरोना वायरस महामारी के कारण नौ महीने तक बंद रहने के बाद 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए स्कूल फिर से खुल गए. राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडासमा ने बताया कि छात्रों, शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों के लिए मास्क पहनना, उचित दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा और स्कूल-कॉलेजों में प्रवेश से पहले शरीर के तापमान की जांच की जाएगी. स्कूलों के प्रबंधन को कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए केंद्र की मानक संचालन प्रक्रिया का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है.

गोवा-

महामारी की वजह से गोवा में आठ महीने तक स्कूल बंद रहे, लेकिन पिछले साल नवंबर में 10वीं और 12वीं की कक्षाएं फिर से खोल दी गईं जबकि बाकी कक्षाओं की पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है. राज्य में नौवीं और 11वीं कक्षा की सभी परीक्षाएं 24 अप्रैल 2021 तक संपन्न करा ली जाएंगी ताकि स्कूलों में 26 अप्रैल से शुरू होने वाली बोर्ड की परीक्षा के लिए आधारभूत संरचना एवं मानव बल उपलब्ध हो सके.

महाराष्ट्र-

महाराष्ट्र में कोविड के चलते प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल अभी भी बंद हैं. हालांकि जालना जिले के एक सुदूर गांव में जिला परिषद स्कूल के एक शिक्षक ने ऑनलाइन पढ़ाई के जरिये यह सुनिश्चित किया कि उनके छात्रों की शिक्षा में कोई रुकावट पैदा न हो. यहां गूगल मीट और वाट्सऐप के जैसे ऐप के जरिये विभिन्न विषयों की कक्षाएं ली जा रही हैं. मार्च  2020 में लॉकडाउन के बाद से राज्य में स्कूल-कॉलेज बंद हैं.

ओडिशा-

करीब नौ महीने के अंतराल के बाद शुक्रवार को ओडिशा के स्कूलों ने कोविड-19 दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए उन छात्रों के लिए अपनी कक्षाओं को फिर से खोल दिया जो शीघ्र ही अपनी बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले हैं. कक्षा 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए 100 दिन के शिक्षण लक्ष्य को पूरा करने के मद्देनजर संकाय सदस्यों ने सामाजिक दूरी के निर्देशों का पालन करते हुए बैठने की व्यवस्था करायी है. यहां सिलेबस में 30 फीसदी की कमी की गई है और आगे कोई कटौती नहीं की जाएगी.

कर्नाटक-

राज्य में लगभग 10 महीने के बाद एक जनवरी से ही 10वीं और कक्षा 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल और प्री-यूनिवर्सिटी (PU) कॉलेज खुल गए थे. कक्षा छठी से 9वीं के छात्रों को भी विद्यागामा कार्यक्रम के लिए अपने स्कूलों में जाने की अनुमति है. राज्य के स्कूलों में सेनिटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग और सोशल डिस्टेंस के नियम का पूरा पालन किया जा रहा है.

पंजाब-

पंजाब में महीनों बंद रहने के बाद कक्षा पांचवीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल बृहस्पतिवार को फिर से खुल गए, जिससे बच्चों को महीनों तक ऑनलाइन पढ़ने के बाद कक्षाओं में लौटने का अवसर मिला. स्कूल के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने कड़ाई से कोरोनावायरस से संबंधित सुरक्षा दिशा निर्देशों का पालन किया और शिक्षकों ने बच्चों में सामाजिक दूरी सुनिश्चित की. कुछ स्कूलों में बच्चों को मास्क भी उपलब्ध कराया गया. स्कूल का समय सुबह 10 बजे से दोपहर तीन बजे तक रहेगा.

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के बाद स्कूलों ने ऑनलाइन कक्षाएं लेनी शुरू कर दी थीं, ताकि बच्चों की पढ़ाई प्रभावित नहीं हो. शिक्षा निदेशालय ने अब स्कूलों को प्रार्थना सभा आयोजित नहीं करने के भी निर्देश दिए हैं. प्रधानाचार्यों से बच्चो को यह बताने के लिए कहा गया है कि वे एक-दूसरे की किताबें और स्टेशनरी (पेन, कॉपी आदि) सामान साझा नहीं करें. पिछले साल अक्टूबर के बाद कई राज्यों ने आंशिक रूप से स्कूल फिर से खोल दिए थे.

यह भी पढ़ें-

Corona Vaccine Update: आप किस राज्य से हैं? जानिए आपको फ्री में वैक्सीन लगेगी या नहीं

Coronavirus: देश में पिछले 24 घंटों में सामने आए16 हजार 946 नए मामले, 198 लोगों की गई जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *