COVID

Kamadhenu Commission Claims, 800 Patients Of Coronavirus Recovered From Panchagavya And Ayurveda Ann | कामधेनु आयोग का दावा



नई दिल्ली: देश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए वैक्सीन को मंज़ूरी दी जा चुकी है और अगले 10 दिनों में इसकी ख़ुराक दिए जाने की शुरुआत भी हो सकती है. इस बीच सरकार की एक संस्था ने चौंकाने वाला दावा किया है. केंद्रीय पशुपालन मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने दावा किया है कि कोरोना काल में पंचगव्य और आयुर्वेद के माध्यम से देशभर में 800 कोरोना संक्रमित मरीजों को ठीक किया गया.

कामधेनु आयोग के अध्यक्ष डॉक्टर वल्लभभाई कथेरिया के मुताबिक सभी मरीजों का इलाज गाय द्वारा प्रदत्त उत्पादों से किया गया. आपको बता दें कि पंचगव्य में दूध, दही, घी,गोबर और गोमूत्र शामिल होता है. कथेरिया के मुताबिक़ किसी भी मरीज़ में कोई कॉम्प्लिकेशन देखने में नहीं आया.

आयोग के अध्यक्ष ने बताया कि देश के 4 शहरों में कुल 800 कोरोना मरीजों का इलाज किया गया. इनमें राजकोट, बड़ोदरा, बनारस और महाराष्ट्र के कल्याण में 200-200 मरीज़ ठीक किए गए. डॉक्टर कठेरिया ने दावा किया कि इन मरीजों को बिना किसी एलोपैथिक दवा के ही ठीक कर दिया गया. उनके मुताबिक इसे एक अनुसंधान के तौर पर किया गया और इनमें केवल 4 मरीज़ ऐसे थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करने की ज़रूरत पड़ी.

डॉ कथेरिया ने बताया कि इस अनुसंधान को आयुष मंत्रालय की ओर से जारी दिशानिर्देश के अनुसार ही चलाया गया और आयोग की ओर से जल्द ही एक रिपोर्ट आयुष मंत्रालय को सौंपी जाएगी.

ये भी पढ़ें:

सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक का साझा बयान, देश-दुनिया में वैक्सीन के प्रभावी वितरण पर प्रतिबद्धता जताई 

चुनाव से पहले ममता को झटका, बंगाल के एक और मंत्री ने दिया इस्तीफा 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *